भावनाओ पर काबू कैसे पाएं - emotions par control kaise kare ~ wiki hindi

भावनाओ पर काबू कैसे पाएं - emotions par control kaise kare

कई लोग अपनी भावनाओं पर काबू नही पा सकते और अपनी कमजोरी दुसरो के सामने बया कर देते है और कभी कभी वही लोग भावनाओ के बहकावे में अपना सीक्रेट बया कर देते है और दूसरे लोग उनका अच्छा फायदा उठा लेते है । इसलिए दोस्तों अपनी भावनाओं पर काबू करना बहुत ही जरूरी बात है। क्या आप आसानी से अपनी भावनाओं को नियंत्रित नही कर सकते हैं? या क्या आप ऐसे व्यक्ति हैं जो अपनी भावनाओं पर हर समय नियंत्रन नही रख सकते है या कोई स्थिति आपको बहुत गुस्सा कराती है? तो आपको नीचे दिया गया आर्टिकल पढ़ना चाहिए जिसे पढ़कर आप अपनी भावनाओं पर काबू करने के तरीकों के बारे में जान सकेंगे।


भावनाओ पर काबू कैसे करें -  bhavnaon par control kaise kare

1] नकारात्मक सोच न रखें

जब आप भावनात्मक अशांति में होते हैं, तो नकारात्मक विचार पैटर्न में पकड़े जाने में ज्यादा संभावना होती है। तब आप स्थिति को दुबारा अनुभव करने के लिए स्थिति को दुबारा महसूस कर सकते है। इसलिए जब भी आप भावनाओ में बहक जाते है तो अलग अलग तकनीक का इस्तेमाल करके नकारात्मक सोच से बाहर निकल जाए ताकि अपने आप अपनी भावनाओं पर काबू कर सकें।
loading...

2] अपना मूड बदल दें

दोस्तों जब भी आप भावनाओ में बहक जाते है तब उनपर काबू पाने के लिए अपना मूड बदल देना भी महत्वपूर्ण बात है। इसलिए भावनाओं में बहक जाने के बाद आपको ऐसी चीजें करनी चाहिए जो आपका मूड बदल दे सकती है और आप अच्छा फील करा सकती है। जब आप उदास महसूस करते है तो fb पर अपने दोस्तों के साथ चैटिंग करें या यूट्यूब पर गाने सुने । इसके अलावा अपनी आंखों को बंद करें और अपने आप को आराम से और सहज महसूस करें।

3] विश्लेषण करें कि आपको ऐसा क्यों लगता है

अपनी भावनाओं को पहचानने के बाद, उन कारणों का अन्वेषण करें जिनके कारण आप ऐसा करते हैं ओर खुद को पूछते रहे कि मेरे साथ क्या गलत हो रहा है।  कोनसी बातें है जिनकी वजह से आप ऐसी भावनाये महसूस कर रहे है ज्यादातर समय, जिस तरह से आप किसी स्थिति के बारे में सोचते हैं, वह आपको अपने तरीके से महसूस करने का कारण बन सकता है।

4] अपनी भावनाओं को नियंत्रित करने के लिए भविष्य के बारे में सोचें

दोस्तों आपका क्रोध , जलन जैसी भावनाये आपको अभी महत्वपूर्ण लग सकती है लेकिन यह सभी भावनाये 1 महीने या कुछ समय मे चली ही जाएगी। तीव्र भावनाओं की वजह से आप भविष्य के बारे में भूल जाते हैं। अपनी भावनाओं को अपने कार्यों को निर्देशित न करें। जब आप नाराज होते हैं, तो अपने आप से पूछें, 'मेरे कार्यों का क्या परिणाम होगा? जब कल मैं इस पर ध्यान दु, तो कल मुझे कैसा महसूस होगा? 'क्षण से परे देखो और बड़ी बात  देखें इससे आपको आराम मिलेगा।

5] अपनी भावनाओं को नोटबुक में लिखे

दोस्तों अपनी भावनाओं को किसी नोटबुक में लिखना भी भावनाओ को कंट्रोल करने का बेहतरीन तरीका है। इसलिए दिनभर में थोडासा समय निकाले और अपनी भावनाओं को ओर विचार को नोटबुक में लिख दें। अगर आप रोजाना ऐसा करेगे तो कुछ मिनट अलग रखें जर्नलिंग आपको अपने अंदरूनी डर, विचारों और भावनाओं को प्रकट कर स्वयं को जानने में मदद करती है। जब आप लिखते हैं, तो अपनी भावनाओं के बारे में प्रश्न पूछें। इससे आपको उन्हें और अधिक स्पष्ट रूप से समझने में मदद मिलेगी।
loading...

6] काम करने के लिए अपने दिमाग पर प्रेशर डाले

आपकी भावनाएं आपको अंधे बना सकती हैं और आपको बेवकूफ भी बना सकती हैं। इसलिए जब आप नियंत्रण से बाहर महसूस करते हैं, तो अपने मस्तिष्क के सोच-भाग को कम करने के लिए बाध्य करें। जैसे अगर आप रोजाना गुस्सा करते है तो आप उस तारीख का विवरण करें, जब आप पहली बार अपनी भावनाओं में बहक गए थे और गुस्सा करने लग गए थे। दोस्तों ऐसा करने से आप अपनी भावनात्मक प्रतिक्रिया पर काबू कर सकेंगे।

पढ़ें : मन को काबू में कैसे करें

पढ़ें : मन को केंद्रित कैसे करें

पढ़ें : डर को कैसे दूर करें

7] योगा या ब्रीथिंग एक्सरसाइज करें

दोस्तों यह भी अपनी भावनाओं को  नियंत्रण करने का ओर खुद को अंदर से मजबूत करने का पॉपुलर तरीका है। यदि आप अपने आप को किसी ऐसी स्थिति से माफ़ नहीं कर सकते हैं जो आपकी भावनाओं को ट्रिगर कर रही है, तो अपना सांस लेने के लिए आपका ध्यान बदलें अपने दिमाग में अपने साँसों की गणना करें, क्योंकि इससे आप ध्यान केंद्रित कर सकेंगे और अपने मन को नकारात्मक भावनाओं से दूर रखेंगे। गहरी साँस लेने में भी आपको शांति महसूस  हो जाएगी।

दोस्तों इसी तरह आप अपनी भावनाओं पर काबू कर सकते है। अगर आपको यह आर्टिकल पसन्द आया है तो इसे आप अपने उन दोस्तों के साथ शेयर करे जो अपनी भावनाओं पर काबू नही कर पाते।
Previous
Next Post »
Thanks for your comment