समस्याओं को कैसे सुलझाए - problems ko solve kaise kare ~ wiki hindi

समस्याओं को कैसे सुलझाए - problems ko solve kaise kare

दुनिया मे शायद ऐसा कोई ही होगा जिसके लाइफ में समस्या न हो हर किसी के जीवन मे समस्याएं आती ही है ओर यही समस्याएं उसकी परेशानी का कारण बन सकती है। ओर कुछ समस्याएं मुश्किल होने की वजह से उसे हम आसानी से सुलझा नही पाते और यही हमारे तनाव का कारण बनती है। लेकिन अगर  आपको भी समस्याए है तो आपको चिंता करने की कोई जरूरत नही है। क्योंकि आज हम आपके लिए ऐसा आर्टिकल लाये है जिसे पढ़कर आप आसानी से अपनी हर समस्याओं को सुलझा सकते है।


समस्याओं को कैसे सुलझाए - problems ko kaise solve kare

1] सलूशन के बारे में सोचें

दोस्तों अगर आपकी समस्या बड़ी है और आप एक तरीके से उसे सुलझा नही पा रहे है तो आपको अलग अलग प्रकार के सलूशन के बारे में सोचना होगा और उन्हें अपनी समस्या सुलझाने के लिए आजमाना होगा। डायरेक्ट एक ही सलूशन का प्रयोग न करें विविध प्रकार के ऑप्शन आपके लिए ओपन रखें। ओर इसके बाद जो सलूशन समस्या को सुलझाने के लिए फिट बैठता हो उसके जरिये अपनी रणनीति अपनाकर समस्या को सुलझा दें।
loading...

2] अपनी समस्या को पहचाने

अपनी समस्या को हल करने के लिए  यह समझना जरूरी है कि यह किस टाइप की समस्या है। बहुत से लोग आम तौर पर अपने जीवन में कठिनाइयों का सामना करते समय समस्याओ से  बचने की कोशिश करते हैं, ढीले पड़ जाते हैं और उनकी उपेक्षा करते हैं। इसलिए आपको देखने की जरूरत है कि समस्या किस तरह की है और उसका अपने जीवन मे क्या असर पड़ सकता है। इसके बाद अपने जीवन मे आने वाली समस्याओं की लिस्ट बनाये ताकि आप उन्हें आसानी से सुलझा सकें। याद रखें कि इस स्टेप पर, आपको बस अपनी सभी समस्याओं का वर्णन करने की जरूरत है, न कि उनकी मरम्मत करने की। एकबार जब आपने समस्या को चुन लिए तो उसे हाईलाइट में लाने के लिए डिफाइन करें।

3] चुनोती लें

अक्सर, एक समस्या को हल करने के लिए, आपको अपनी सीमाओं का परीक्षण करना होगा। आपको खुद को बेहतर बनाने के लिए कुछ नया सीखने सहित कुछ चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। यदि आप समस्या के बारे में एक खतरे के बारे में सोच रहे हैं और अपने आप को विफलता या कमजोर व्यक्ति के रूप में देखते हैं, तो आप समस्या से निपटने में सक्षम नहीं होंगे। अगर आप समस्या से बाहर आने वाले कुछ लाभ देख सकते हैं, तो आप चुनौती को स्वीकार करने और कुछ नया सीखने की बेहतर स्थिति में होंगे। जैसे कि, अगर आपको भीड़ के सामने सिंगिंग करने में डर लगता है तो आपको तब तक इसके बारे में चुनोतियाँ स्वीकार करनी होगी जब तक आप भीड़ के सामने सिंगिंग करने के लिए  आश्वस्त नहीं हो जाते।

4] गोल्स सेट करें

आपको अपनी समस्याओं को सुलझाने के लिए गोल्स सेट करने की भी जरूरत है। लेकिन आपके लक्ष्य यथार्थवादी और प्राप्त करने योग्य ओर व्यावहारिक होने चाहिए  ताकि आपकी उन तक पहुचने की संभावनाएं बढ़ सकें। आपके गोल्स अस्पष्ठ नही होने चाहिए वह स्पष्ट रूप में होने चाहिए। तभी आप समस्या की गहराई तक जाकर सच्चाई को समझ सकेंगे और जान सकेंगे कि, आपको अब क्या करना है। दोस्तों स्टार्ट करते समय शार्ट टर्म गोल्स के साथ स्टार्ट करें ताकि आप उन्हें आसानी से कम्पलीट कर सकें। ओर आप अपनी समस्याओं का समाधान निकाल सकें। क्योंकि हमेशा शार्ट टर्म गोल्स आपके वर्क लोड को कम करने का काम करता है।

5] फीलिंग्स को अनालीज़ करें

अगर आप अपनी फीलिंग को अनालीज़ करके उसे महसूस कर सकेंगे तो आप आसानी से आप अपनी समस्या का समाधान निकालने के लिए सही तरीका ढूंढ सकेंगे। आपको बहुत बार ऐसा लगता होगा कि, अपने काम करने की वजह से तनाव की समस्या आपको होती है।  लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नही है समस्या सिर्फ काम करते समय अपने सहकर्मियों के बीच या भारी वर्क लोड की वजह से ही हो सकती है। समस्या की पहचान करें और इसके साथ निपटने का एक तरीका जानें। वह खुद तनाव से छुटकारा पाने में आपकी मदद करेगी। इसलिए जब आप समस्या का सामना करेंगे तो उसे महसूस करने का प्रयास करें ताकि आप उस समस्या के जड़ तक जा सकें और उसे हल करने का सही रास्ता ढूंढ सकें।
loading...

6]  उन चीजों के लिए योजना बनाएं जो गलत हो जाती है

समस्या को हल करने की प्रक्रिया के दौरान जो कुछ भी गलत हो सकता है, उससे निपटने के लिए सक्रिय रूप से खुद को तैयार करें। हम सब कुछ 100% सफल तरीके  से नियंत्रित नहीं कर सकते।  क्योंकि अनपेक्षित बाते भी जीवन में होती ही है। इस प्रकार, आपको अपनी प्रत्येक एक्शन  के बाद रिजल्ट  की आशा करने की आवश्यकता है आपको समझना होगा कि, आपके समस्या को सुलझाने के प्रयास में किस तरह से और बाहर निकल सकते हैं और कैसे  प्रत्येक आकस्मिक स्थिति के लिए उचित आकस्मिक योजनाएं डेवेलोप कर सकते हैं।

7] दुसरो से मदद माग ले

दोस्तों यह भी आपके जीवन मे आने वाली समस्याओं को सुलझाने का बढ़िया तरीका है। क्योंकि कभी कभी आप खुद अकेले अपनी समस्याओं को सुलझा नही सकते और उन समस्याओं को सुलझाने के लिए दूसरे आपकी मदद का सकते है। इसलिए अगर आप बहुत ही ध्यान देने के बावजूद ओर सभी तरीके को आजमाने के बावजूद भी आप समस्याओ को सुलझा नही सकते है तो आप इसे सुलझाने के लिए अपने रिश्तेदारों की परिवार के सदस्यों की या दोस्तों की सहायता लेकर उस समस्या को सुलझाएं।

दोस्तों इसी तरह आप अपने जीवन मे आने वाली समस्याओं को सुलझा सकते है। अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा है तो इसे आप अपने उन दोस्तों  के साथ शेयर करें जो अपनी समस्याओं को सुलझाना चाहते है धन्यवाद।
Previous
Next Post »
Thanks for your comment