laptop garm hota hai to kya kare : reason aur tips ~ wiki hindi
Sylvester stallone powerful motivational story hindi https://youtu.be/eCsc0koF3wA

laptop garm hota hai to kya kare : reason aur tips

 एक लैपटॉप एक बहुत ही उपयोगी इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जिसे आप आसानी से हर जगह अपने साथ ले जा सकते हैं। इसका उपयोग आप व्यावहारिक कामो के लिए भी कर सकते है। लेकिन धूल और गंदगी की वजह से लैपटॉप को नुकसान पहुच सकता हैं। और कभी कभी लैपटॉप के अतिरिक्त उपयोग की वजह से या उसका खयाल न  रखने की वजह से वह गर्म हो सकता है। लैपटॉप के गर्म होने का कारण कीबोर्ड में पड़ी धूल भी हो सकती है। इसके अलावा, वायरस और late programms आपके लैपटॉप को गर्म कर सकते हैं, जिसके बाद डिवाइस खराब हो सकता है इन बातों से बचने के लिए एन्टी वायरस और क्लीनिंग प्रोग्राम लैपटॉप में इनस्टॉल करें। लैपटॉप का अधिक गर्म होना दीर्घकालिक  हानिकारक हो सकता है और इसके लाइफ टाइम को काफी कम कर सकता है। आपके लैपटॉप के गर्म होने के क्या कारण हैं और इस समस्या को हल करने में कौन से टिप्स आपकी मदद कर सकते हैं यह जानने के लिए यह लेख पूरा पढ़ें।


laptop garm hota hai to kya kare : reason aur tips

 लैपटॉप नाजुक उपकरण है

एक लैपटॉप के कई फायदे हैं: आप आसानी से इसके साथ ग्रंथ लिख सकते हैं, आप ऑनलाइन जा सकते हैं और आप इसे आसानी से ले जा सकते हैं। दूसरी तरफ, एक लैपटॉप भी बहुत नाजुक उपकरण है। जब इसे आप कही ले जाते हैं तब इसे नुकसान पहुचने की संभावना बढ़ जाती हैं क्योंकि तब धूल और गंदगी जो हार्डवेयर के संपर्क में आ सकते हैं। इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि अपने लैपटॉप को बाहर से संभावित नुकसान से ठीक से बचाएं।

लैपटॉप गर्म होता है तब क्या करें

बाहरी कारण से होने वाले नुकसान के संभावित परिणामों में से एक लैपटॉप ओवरहीटिंग है।  आपने देखा होगा कि आपका लैपटॉप उपयोग करते समय उल्लेखनीय रूप से गर्म हो जाता है। इसे शुरू करने के कुछ मिनट बाद ही कभी-कभी ऐसा होता है। यह भी हो सकता है कि लैपटॉप सचमुच गर्म हो जाता है और खराब हो जाता है, जो निश्चित रूप से सामान्य घटना नहीं है। जब एक लैपटॉप जो बंद हो जाता है, वह ओवरहीटिंग का संकेत हो सकता है। इसके अलावा जब आप अपने लैपटॉप का उपयोग ओवरड्राइव में करते है तब आपका लैपटॉप अधिक sound उत्पन्न करता है जिसकी वजह से वह गर्म हो जाता हैं। इसलिए जब भी लैपटॉप गर्म होता है तब सबसे अच्छी बात यह है कि लैपटॉप को तुरंत बन्द कर दें क्योंकि अगर लैपटॉप बन्द नही किया तो बैटरी जल्दी खत्म हो सकती है।

लैपटॉप गर्म होने के मुख्य कारण

लैपटॉप का अतिरिक्त उपयोग करना

कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपका लैपटॉप कितना हैंडी और सॉफिस्टिकेटेड है, यह एक उपकरण है और हमेशा के लिए यह  काम करना जारी नहीं रख सकता है। यदि आप अपने लैपटॉप का उपयोग बहुत ही गहनता से करते हैं, उदाहरण के लिए एक समय में घंटों और दिन में कई बार इसका उपयोग करते है तो यह ज़्यादा गर्म हो सकता हैं। लगातार सर्फिंग, प्रोसेसिंग टेक्स्ट, वीडियो डाउनलोड करना, आदि से लैपटॉप को बहुत "काम" मिलता है और यह टोल लेता है।

धूल और गंदगी के कारण

एक आवश्यक कारक जो अक्सर आपके लैपटॉप के ओवरहीटिंग का अपराधी होता वह है धूल और गंदगी। छोटे धूल कण, गंदगी और  स्क्रैप (crumbs) लैपटॉप में आसानी से घुस जाते हैं और वहां अनावश्यक संदूषण का कारण बनते हैं।  लैपटॉप की वेंटिलेशन प्रोसेस में गंदगी और धूल मिल सकती है, जिससे उसे अपना काम करना मुश्किल हो जाता है। यह हटाने के लिए लैपटॉप अपनी अधिक पावर बर्बाद करता है जिसकी वजह से वह गर्म होने लगता हैं।

गर्म वातावरण की वजह से

जब आप अपने लैपटॉप का उपयोग गर्म वातावरण में करते हैं, तो यह प्रतिकूल रूप से प्रभावित हो सकता है। कमरे के उच्च तापमान पर, आपका लैपटॉप तार्किक रूप से गर्म हो जाएगा। इसलिए अगर आप चाहते है कि आपका लैपटॉप गर्म न हो तो अपने लैपटॉप को ठंडी जगह पर इस्तेमाल करने की कोशिश करें, जैसे कि खुली खिड़की के पास,  या एयर कंडीशनर रूम में लैपटॉप का उपयोग करें।

Delaying program

नॉर्मल एक्टिविटीज के बैकग्राउंड में delaying programs एक्टिवेट हो सकते है जो लैपटॉप की अधिक पावर खाते है और लैपटॉप का गर्म होने का कारण बनते हैं। इसलिए, ध्यान से देखें कि जब आप अपने लैपटॉप के साथ काम कर रहे हों तो कोई अनावश्यक प्रोग्राम एक्टिवेट न हो। जहां भी संभव हो, अनावश्यक delaying programs को निकालें या अनइंस्टॉल करें।

कंप्यूटर वायरस

जब आपके लैपटॉप में वायरस आता है तो वह आपके लैपटॉप को नुकसान पहुचने में कोई कसर नही छोड़ता। कुछ वायरस इतने लगातार होते हैं कि वे आपके कंप्यूटर को ओवरड्राइव कर देते हैं, जिससे ओवरहीटिंग होती है। उसी समय आपका लैपटॉप बहुत धीरे-धीरे काम करेगा और आपका पर्सनल डेटा चोरी, हैकिंग, आदि के लिए खतरा हो सकता है।

 

ओवर हीटिंग रोकने के तरीके

लैपटॉप को regularly स्विच ऑफ करें

यदि आप लैपटॉप का उपयोग गहनता से करते है तो इसे बीच बीच मे रेस्ट करने दें। उदाहरण, यदि आप खाने के लिए रुकते हैं, तो म्यूजिक सुनने के लिए YouTube वीडियो डाउनलोड न करें। बस डिवाइस को स्विच ऑफ कर दें ताकि बैटरी आराम कर सके।

Do not eat on laptop

बहुत से ऐसे लोग भी होते है जो लैपटॉप के ऊपर भोजन करते हैं और खुद ही लैपटॉप को खराब कर देते हैं। जब कोई लैपटॉप पर भोजन करता है तब भोजन के टुकड़े कीबोर्ड के key के बीच जमा हो जाते है जिससे स्क्रैप होने का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए, आप सिर्फ डाइनिंग टेबल का उपयोग करके ही भोजन करें और भोजन करते वक्त लैपटॉप को दूर रखें।

डस्ट करें

धूल के कण बड़ी संख्या में चादरों, कपड़ों और तकियों पर पाए जाते हैं। इसलिए बिस्तर में या सोफे पर अपने लैपटॉप का उपयोग न करें। इसके बजाय, अपने लैपटॉप को अधिमानतः एक कठोर सतह जैसे कि कांच या लकड़ी की मेज पर रखें और जांचें कि फैन के माध्यम से हीटिंग ठीक से फैल सकती है। लैपटॉप को सपोर्टिंग प्लेसेस पर रखना चाहिए ताकि   वेंटिलेशन ऑप्टिमल रह सकें।

लैपटॉप को साफ करें

लैपटॉप को नियमित रूप से साफ करें ताकि अनावश्यक गंदगी दूर हो। बैटरी निकालें और इसे एक साफ कपड़े से साफ करें, लेकिन सावधान रहें कि नई धूल में न डालें।  ब्रश के साथ कीबोर्ड पर जमे धूल के टुकड़ों को मिटा दें। अपने लैपटॉप को सीधा रखें और बैक को हल्के से टैप करें: आप देखेंगे कि इस तरह से बहुत सारी गंदगी दिखाई देती है। अपने लैपटॉप को पोंछते समय, जितना संभव हो उतना फाइबर के क्लीनिंग वाइप के साथ पोछने  की सलाह दी जाती है, जिसे माइक्रोफ़ाइबर वाइप्स के रूप में भी जाना जाता है। लैपटॉप के लिए फुल क्लीनिग सेट भी उपलब्ध हैं, जिनमें आमतौर पर एक एयर स्प्रे के साथ-साथ क्लीनिंग वाइप होते हैं। इस एयर स्प्रे से आप अपने लैपटॉप से गंदगी आसानी से निकाल सकते हैं।

लैपटॉप क्लीनअप करें

लैपटॉप को साफ करने के अलावा क्लीनअप भी जरूरी है। इसका अर्थ है कि अपने लैपटॉप से वायरस, मैलवेयर और unwanted product को "हटाने" के लिए स्पेशल प्रोग्राम का उपयोग करना हैं। ऐसे क्लीनिंग प्रोग्राम के कुछ उदाहरण CCleaner और AdwCleaner हैं।

reinstall करें

इस स्टेप के बाद भी आपका लैपटॉप बेहतर काम कर सकता है और गर्म होने की संभावना बहुत कम होती हैं। यदि इस मामले में कोई शॉट नहीं लगता है, तो आप अपने लैपटॉप को फिर से इंस्टॉल कर सकते हैं। आप लैपटॉप को reinstall करके अपने प्रोग्राम को सिक्योर कर सकते हैं और सभी अनावश्यक प्रोग्राम को रिमूव करके लैपटॉप की हीटिंग प्रॉब्लम दूर कर सकते हैं। अगर आप लैपटॉप reinstall करके अपना डेटा नही खोना चाहते तो किसी एक्सपर्ट से सलाह लेना जरूरी हैं।

 पढ़ें : वेबसाइट कैसे बनाये

पढ़ें : Google medic update से अपनी वेबसाइट कैसे recover करें

पढ़ें : मैलवेयर को कैसे रोकें

नया लैपटॉप खरीदें

यदि इन सभी युक्तियों से लैपटॉप में सुधार नहीं होता है और आपका लैपटॉप अस्थिर रूप से कार्य करना जारी रखता है, तो नया खरीदने पर विचार करना उचित हो सकता है। एक लैपटॉप का औसत जीवनकाल लगभग 4 से 6 साल है और एक बार जब यह अवधि पार हो जाती है, तो अधिक से अधिक समस्याएं होंगी। आपके लैपटॉप को बनाए रखने की लागत धीरे-धीरे बढ़ेगी जो एक सेकंड हैंड लैपटॉप के मूल्य के बराबर हो जाएगी। इसलिए आप बस एक नया लैपटॉप भी खरीद सकते हैं: इसका फायदा यह है कि आप हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के मामले में तुरंत लेटेस्ट गैजेट्स का उपयोग कर सकते हैं। लैपटॉप की अगली जनरेशन हमेशा पिछले वाले की तुलना में बेहतर क्वालिटी की होती है, और इसके अलावा आमतौर पर उपयोग करने में अधिक सुविधाजनक और वजन में हल्का होता है।

इसी तरह आप अपने लैपटॉप की हीटिंग प्रॉब्लम को दूर कर सकते हैं। अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा है तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें और इस लेख के रिलेटेड आपका कोई सवाल है तो कमेंट में जरूर पूछें।
Previous
Next Post »
Thanks for your comment